झाबुआ: धोनी ने जिस पोल्ट्री फॉर्म से मंगवाए थे 2000 कड़कनाथ चूजे वहां भी बर्ड फ्लू ने रखे कदम

By: Pinki Wed, 13 Jan 2021 08:34 AM

झाबुआ: धोनी ने जिस पोल्ट्री फॉर्म से मंगवाए थे 2000 कड़कनाथ चूजे वहां भी बर्ड फ्लू ने रखे कदम

मध्‍य प्रदेश के झाबुआ में भी बर्ड फ्लू ने अपने कदम रख लिए है। झाबुआ के प्रसिद्ध कड़कनाथ मुर्गे में बर्ड फ्लू के वायरस की पुष्टि हुई है। पशुपालन विभाग (भोपाल) के संचालक ने झाबुआ प्रशासन को पत्र लिखकर उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद पशुपालन विभाग की टीम गांव की ओर रवाना हो गई। मुर्गीपालन क्षेत्र और उसके 1 किमी के दायरे को संक्रमण मुक्त करने के साथ-साथ सभी जीवित और मृत मुर्गे-मुर्गियों को जमीन में दफना दिया गया है। इसके साथ ही अंडे भी नष्ट किए जाएंगे।

थांदला तहसील के रूंडीपाड़ा गांव के निजी कड़कनाथ मुर्गीपालन क्षेत्र में मुर्गियां बीमार हुई थीं, जिनके सैम्पल जांच के लिए भेजे गए थे। जांच में कड़कनाथ मुर्गे में H5N1 वायरस की पुष्टि हुई है। ये वही पोल्ट्री फॉर्म है, जहां से भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कड़कनाथ मुर्गे मंगवाए थे।

धोनी ने अपने रांची स्थित फार्म हाउस पर पालने के लिए 2000 हजार कड़कनाथ चूजों का आर्डर रूंडीपाड़ा स्थित इस फार्म हाऊस को दिया था। बर्ड फ्लू की रोकथाम को लेकर विभाग की टीम पीपीई किट और सुरक्षा इंतजामों के साथ गांव में पहुंच चुकी है। बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए कृषि विज्ञान केन्द्र और सरकारी कड़कनाथ मुर्गीपालन केन्द्र ने मुर्गियों को संक्रमण से बचाने के लिए अपनी तैयारिया शुरू कर दी थीं। साथ ही देशी तरीके को भी आजमाया जा रहा है।

महाराष्‍ट्र पहुंचा बर्ड फ्लू

महाराष्ट्र में भी बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। यहां, परभणी जिले के मुरुम्बा गांव स्थित पॉल्‍ट्री फार्म में 800 मुर्गियों की मौत हो गई है। परभणी के जिलाधिकारी दीपक मुलगीकर ने पहले घटना के बाद जानकारी दी थी कि मुर्गियों की मौत की वास्तविक वजह जानने के लिए नमूनों को जांच के लिए भेजा गया है। अब इसकी जांच रिपोर्ट आ गई है और उसमें पुष्टि हुई है कि ये मौतें बर्ड फ्लू से हुई हैं। दो दिनों में मराठवाड़ा इलाके के मुरुम्बा गांव में 800 मुर्गियां मरी हैं, जिस पॉल्ट्री फार्म में मुर्गियों की मौत हुई है उसे स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) चलाता है। डीएम के अनुसार इस पोल्ट्री फार्म में करीब 8000 मुर्गियां हैं। 800 मुर्गियों की मौत दो दिनों में हुई है। अब इस गांव के 10 किमी दायरे में आने वाले इलाकों में मुर्गियां नहीं भेजी जाएंगी।

बता दे, अब 8 राज्‍यों में बर्ड फ्लू फैलने की पुष्टि हो गई है। केरल, राजस्थान, महाराष्‍ट्र, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, गुजरात और उत्तर प्रदेश में बर्ड फ्लू फैलने की पुष्टि हो गई है। राजस्थान में मंगलवार को 626 पक्षियों ने दम तोड़ा। यहां, बर्ड फ्लू से मरने वालें पक्षियों की संख्या बढ़कर 3,947 तक पहुंच गई है। राजस्थान के 33 में से 16 जिलों में बर्ड फ्लू फैल चुका है। पशुपालन विभाग से जारी रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को 349 कौवों, 52 कबूतर, 22 मोर और 203 अन्य पक्षियों की मौत हो गई।

ये भी पढ़े :

# राजस्थान: 33 में से 16 जिलों में फैला बर्ड फ्लू, अब तक 3,947 पक्षियों की हो चुकी मौत

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com