Railway News: कम दूरी के ट्रेन किराए में वृद्धि, ऐसा करने के पीछे रेलवे ने दी ये सफाई

By: Pinki Thu, 25 Feb 2021 10:28 AM

Railway News: कम दूरी के ट्रेन किराए में वृद्धि, ऐसा करने के पीछे रेलवे ने दी ये सफाई

रेलवे ने कम दूरी की ट्रेनों का किराया बढ़ा दिया है। अमृतसर से पठानकोट का किराया 25 से बढ़कर 55 हो गया है। इसी तरह जालंधर से फिरोजपुर तक डीएमयू का किराया 30 रुपये से बढ़कर 60 रुपये हो गया है। कानपुर और फैजाबाद के लिए सोमवार से शुरू हुई पैसेंजर ट्रेन के यात्रियों ने बढ़े हुए किराए को लेकर चारबाग रेलवे स्टेशन पर जमकर हंगामा किया था। नाराज यात्रियों ने कहा कि आखिर ट्रेन में ऐसी क्या सुविधाएं बढ़ा दी गई हैं कि किराया 20 की जगह 45 रुपया कर दिया गया है। साथ ही आरोप लगाया कि एमएसटी धारकों को यात्रा की सुविधा नहीं देना यह साबित करता है कि रेलवे प्रशासन सिर्फ और सिर्फ वसूली पर उतारू है।

रेलवे प्रशासन पैसेंजर ट्रेन को मेल-एक्सप्रेस की तर्ज पर चला रहा है। इसके चलते ट्रेन का किराया भी बढ़ा हुआ लिया जा रहा है। बढ़े हुए किराए को लेकर रेलवे ने अब सफाई दी है। बुधवार को मंत्रालय ने कहा कि कोरोना को देखते हुए अनावश्यक यात्राओं में कमी लाने के लिए किराये में मामूली वृद्धि की गई है। कोरोना लॉकडाउन में छूट के बाद से रेलवे सिर्फ स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। शुरुआत में केवल लंबी दूरी की ट्रेनों का संचालन किया जा रहा था, लेकिन अब कम दूरी की पैसेंजर ट्रेनें भी चलाई जा रही हैं।

रेलवे ने कोविड संकट से पहले के समय की तुलना में 65% मेल एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाना शुरू कर दिया है। जबकि 90% सबअर्बन ट्रेनें भी चलाई जा चुकी हैं। इस वक़्त रोज़ाना कुल 326 पैसेंजर ट्रेनें चल रही हैं। जबकि 1250 मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें और 5350 सबअर्बन ट्रेनें चल रही हैं। रेलवे का कहना है कि इस समय चल रही कम दूरी की पैसेंजर ट्रेनें कुल पैसेंजर ट्रेनों का सिर्फ़ 3% ही है। इसलिए इससे बहुत कम यात्री ही प्रभावित हो रहे हैं।

रेलवे ने अपने बयान में कहा है कि कोरोना का संकट अभी भी बना हुआ है और कुछ राज्यों में स्थिति बिगड़ रही है। कई राज्यों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है और उन्हें यात्रा करने के लिए हतोत्साहित किया जा रहा है। किराए में मामूली वृद्धि को ट्रेनों में भीड़ को नियंत्रित करने और कोरोना को फैलने से रोकने के प्रयास के तौर पर देखा जाना चाहिए।

किराए बढ़ाए जाने को लेकर रेलवे से सफ़ाई देते हुए ये भी याद दिलाया है क़ि यात्री सेवा पर हमेशा सब्सिडी दी जाती है और प्रत्येक रेल यात्री की हर यात्रा पर रेलवे को घाटा सहना पड़ता है। रेलवे बहुत सी ऐसी ट्रेनें भी चला रहा है जिसकी सीटें बहुत कम भरती हैं।

रेलवे ने पैसेंजर किराए में कितने रूपए की वृद्धि की है?

हर 10 किलोमीटर पर बढ़े हुए किराए किस दर से लागू होंगे? रेलवे के आधिकारिक राष्ट्रीय प्रवक्ता ने विस्तार से समझाते हुए बताया, 'बढ़े हुए किराए की बात अगर आप कम दूरी के लिए करेंगे तो ये प्रतिशत में काफ़ी ज़्यादा लगेगा क्योंकि 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित दो स्टेशनों के बीच अगर टिकट 10 रूपए का था तो अब 20 रूपए का मिलेगा। लेकिन अगर 150 किलोमीटर की दूरी पर स्थित दो स्टेशनों के बीच के किराए की बात करें तो ये महज़ 10% के करीबी होगा।'

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना


कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कम दूरी के सफर पर रेलवे की ओर से किराए में की गई इस वृद्धि पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्‍होंने एक ट्वीट में लिखा, 'कोविड- आपदा आपकी, अवसर सरकार का। पेट्रोल-डीजल-गैस-ट्रेन किराया। मध्यवर्ग को बुरा फंसाया। लूट ने तोड़ी जुमलों की माया!' गौरतलब है कि दो दिन पहले जब राहुल गांधी ने ट्वीट किया था तब रेलवे ने इसे तथ्‍यात्‍मक रूप से गलत बताया था अब दो दिन बाद किराए में की गई वृद्धि को स्वीकार किया है।'

ये भी पढ़े :

# 1 मार्च से कोरोना टीकाकरण का दूसरा फेज, 45 से 60 साल की उम्र वालों को वैक्सीनेशन के लिए रखने होंगे ये जरूरी दस्तावेज

# Corona News: महाराष्ट्र में 8 हजार से ज्यादा केस, मुंबई में 24 घंटे में मिले 1167 नए मरीज

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2022 lifeberrys.com