• Hindi News/
  • News/
  • News Indian Institute Of Technology Iit Roorkee Has Developed Low Cost Face Shields For First Line Healthcare Professionals To Fight Coronavirus 135773

कोरोना के साथ जंग, IIT रुड़की ने डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए बनाया ये खास उपकरण

By: Pinki Sat, 04 Apr 2020 09:40 AM

कोरोना के साथ जंग, IIT रुड़की ने डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए बनाया ये खास उपकरण

देश में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या तेजी से बढ़ रही है और यह संख्या अब 3000 को पार कर गई है। शुक्रवार को भारत में कोरोना से कम से 15 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। महाराष्ट्र में इस वायरस से 3, जबकि दिल्ली और तेलंगाना में 2-2 लोगों की मौत हुई है। आंध्र प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, हरियाणा और कर्नाक में 1-1 कोरोना पीड़ितों के मौत की खबर है। इस वायरस से मरने वालों की गिनती 85 हो गई है। हालांकि आधिकारिक रूप से अभी तक केवल 2547 मामलों और 62 मौतों की ही पुष्टि हुई है। कोरोना का प्रकोप महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा है। अब तक यहां 490 मामले सामने आए हैं और 26 लोगों की जान गई है। आंकड़ों को तेजी से बढ़ाने में तब्लीगी जमात का भी योगदान रहा है। शुक्रवार को आए मामलों में कम से कम 280 तबलीगी जमात से जुड़े हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को जानकारी दी कि पिछले 2 दिनों में 14 राज्यों से सामने आए कुल मामलों में से कम से कम 647 का तबलीगी जमात से कनेक्शन है। स्वास्थ्य मंत्रालय अपने बयान से संकेत दिया कि तबलीगी जमात के कार्यक्रम की वजह से सामने आए नए मामलों ने लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग से हुए फायदे को तगड़ा झटका दिया है। इसके अलावा 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन का आज 11वां दिन है।

लागत 25 रुपये से कम

कोरोना के खिलाफ जारी जंग में आईआईटी रूड़की भी मदद के लिए आगे आया है। आईआईटी रूड़की ने कोरोना वायरस के योद्धाओं की मदद के लिए डॉक्टरों और नर्सों की सुरक्षा हेतु कम लागत में फेस शील्ड (एक तरह का मॉस्क) बनाया है। आईआईटी रूड़की के मुताबिक बड़े पैमाने पर विनिर्माण लागत 25 रुपये से कम होगी। फिलहाल इसे ऋषिकेश स्थित एम्स में कार्यरत स्वास्थ्यकर्मियों को दिया गया है।

रेलवे की तैयारी

ईस्ट कोस्ट रेलवे कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के लिए ट्रेन के 261 डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर रहा है । 261 में से 46 कोच भुवनेश्वर के कोचिंग डिपो में आइसोलेशन वार्ड में बदले जा चुके हैं। भारतीय रेल पहले से ही कई ट्रेनों को इस तरह के आइसोलेशन वार्ड में बदल चुकी है।

तबलीगी जमात की वजह से दक्षिण भारत में बढ़े कोरोना मरीज

दक्षिण के राज्यों में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होने वाले कोरोना पीड़ितों की संख्या सबसे ज्यादा है। तेलंगाना में कुल 229 मामलों में से 116 जमात से जुड़े हैं, वहीं आंध्र प्रदेश के कुल 161 मामलों में 140 का जमात कनेक्शन है। तमिलनाडु के कुल 411 कोरोना पीड़ितों में 364 का जमात लिंक है। महाराष्ट्र में अब तक सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं, यहां 25 लोगों की मौत और कुल 490 मामलों की पुष्टि हुई है।

17 हजार करोड़ का फंड जारी

शुक्रवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारण ने 17,287.08 करोड़ का फंड अलग-अलग राज्यों को दिया। उन्होंने बताया कि आंध्र प्रदेश, असम, हिमाचल प्रदेश, केरल, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, पंजाब, सिक्किम, तमिलनाडु, त्रिपुरा, उत्तराखंड और ​पश्चिम बंगाल को ग्रांट के तहत 6,195.08 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। इसके अलावा गृह मंत्रालय की ओर से भी राज्यों को रकम दी गई है। गृह मंत्री अमित शाह ने 11,092 करोड़ के फंड को आज मंजूरी दे दी है। इन पैसों का इस्तेमाल क्वारंटीन सेंटर और अन्य कार्यों के लिए किया जाएगा।

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन lifeberrys हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश से जुड़ीNews in Hindi
|
|

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com