Advertisement

सेहत के साथ जीवन भी संवार सकता हैं आंवला, आजमाकर देखें ये उपाय

By: Ankur Mon, 18 Jan 2021 09:38 AM

सेहत के साथ जीवन भी संवार सकता हैं आंवला, आजमाकर देखें ये उपाय

सेहत के लिहाज से बेहतर मानते हुए आंवले का सेवन किया जाता हैं जो आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर माना जाता हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आंवले का ज्योतिष में भी बड़ा महत्व हैं जिससे जुड़े उपायों को कर आप अपना जीवन संवार सकते हैं। जी हां, त्रिदेव अर्थात ब्रह्मा, विष्णु और महेश एकसाथ आवंला के वृक्ष पर विराजमान रहते है जिससे इसकी पूजा कर आपको सभी का आशीर्वाद मिलता हैं। आज इस कड़ी में हम आपको आंवले के उन्हीं उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपकी किस्मत चमका जीवन में सुख-सौभाग्य का आगमन करेंगे।

इस उपाय से बढ़ती है आयु

आर्युवेद के अनुसार, आंवला हर रोज खाने मात्र से आपकी आयु बढ़ती है। साथ ही इसका रस पीने से धर्म का संचय होता है और वहीं रस को शरीर पर लगाकर स्नान करने से दरिद्रता भी दूर होती है और ऐशवर्य की प्राप्ति होती है। साथ ही आपकी समस्याएं भी धीरे-धीरे खत्म होने लगती हैं।

astrology tips,astrology tips in hindi,astrology measures,amla remedies ,ज्योतिष टिप्स, ज्योतिष टिप्स हिंदी में, ज्योतिषीय उपाय, आंवले के उपाय

यह उपाय कर देता है सभी पाप नष्ट

धार्मिक मान्यता के अनुसार, दोनों पक्षों की एकादशी तिथि को जो व्यक्ति आंवले के रस का प्रयोग कर स्नान करता है, उसके सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। साथ ही देवी-देवताओं का आशीर्वाद भी मिलता है। आंवला का इस उपाय से आपके भी कार्य बनने लगते हैं।

इस उपाय से मिलती है सदगति

दाह संस्कार के बाद मृत व्यक्ति की हड्डियों को आंवले के रस से धोकर पवित्र नदी में प्रवाहित करने से उसकी सदगति होती है, ऐसी धार्मिक मान्यताएं कहती हैं। साथ ही उसकी आत्मा को शांति मिलती है और यमलोक के चक्र से मुक्ति मिलती है।

astrology tips,astrology tips in hindi,astrology measures,amla remedies ,ज्योतिष टिप्स, ज्योतिष टिप्स हिंदी में, ज्योतिषीय उपाय, आंवले के उपाय

इस उपाय से माता लक्ष्मी का मिलता है आशीर्वाद

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, आंवले की हर रोज पूजा करने से त्रिदेव के साथ-साथ माता लक्ष्मी का आशीर्वाद मिलता है। साथ ही उसको अक्षय फल की प्राप्ति भी होती है। वहीं आंवले के वृक्ष के नीचे भोजन करने से वृक्ष का पत्ता भोजन की थाल में गिर जाए तो समझ लें कि त्रिदेव का आशीर्वाद मिला है।

इस उपाय से हर इच्छा होती है पूरी

सप्तमी के दिन आंवले का दान करना बहुत शुभ माना गया है, ऐसा करने से इंसान की हर इच्छा पूरी होती है और उसको कष्टों से भी मुक्ति मिलती है। वहीं रविवार, शुक्रवार, प्रतिपदा, षष्ठी, नवमी, अमावस्या और संक्रांति को आंवले का सेवन करने से बचना चाहिए। शास्त्रों में इस दिन आंवले का सेवन नुकसान दायक बताया गया है।

इस तरह स्वास्थ्य को पहुंचता है नुकसान

आर्युवेद के अनुसार, हमेशा ध्यान रखें कि आंवले के सेवन के बाद हमेशा 2 घंटे बाद दूध पीना चाहिए। आंवला खाने के तुरंत बाद दूध पीने से बचें, ऐसा करने स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। वहीं याददाश्त बढ़ाने के लिए आंवले के मुरब्बे के साथ गाय का दूध पीने से लाभ होता है।

ये भी पढ़े :

# राशिनुसार कौनसा रुद्राक्ष दूर करेगा आपके जीवन की समस्याएं, आइये जानें

# यात्रा पर निकलते समय इन चीजों का दिखना बेहद शुभ, मंगलमय होता हैं समय

# आपकी किस्मत खोलेगा गंगाजल, आजमाए ये चमत्कारी टोटके

# आपको कर्जदार बनाता हैं घर का वास्तु दोष, जानें और करें इन्हें दूर

# क्या आप भी लेने जा रहे हैं कुंभ स्नान का सौभाग्‍य, ना करें इन नियमों की अनदेखी, मिलेगा पाप

Tags :

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2021 lifeberrys.com