• होम
  • हेल्थ
  • हैंडसैनिटाइजर का अधिक उपयोग आपके लिए बनेगा घातक, जानें कैसे

हैंडसैनिटाइजर का अधिक उपयोग आपके लिए बनेगा घातक, जानें कैसे

By: Ankur Wed, 29 July 2020 4:19 PM

हैंडसैनिटाइजर का अधिक उपयोग आपके लिए बनेगा घातक, जानें कैसे

वर्तमान कोरोनाकाल एम् सावधानी रखना ही सबसे बड़ी सुरक्षा हैं। सुरक्षा के लिहाज से मास्क, सोशल डिस्टेंस और हाथों की सफाई बहुत जरूरी हैं। हाथों की सफाई के लिए साबुन का इस्तेमाल सर्वश्रेष्ठ हैं। लेकिन हमेशा साबुन काम में ले पाने की वजह से हैंडसैनिटाइजर का उपयोग बहुतायत से किया जा रहा हैं। लेकिन जरा संभलकर क्योंकि हैंडसैनिटाइजर का अधिक उपयोग आपके लिए घातक साबित हो सकता हैं। आइये जानते है इसके बारे में कि किस तरह हैंडसैनिटाइजर का अधिक हानिकारक हैं।

- हैंडसैनिटाइजर को बनाने में जिन केमिकल्स का उपयोग किया जाता है, उनमें आमतौर पर बेंजाल्कोनियम क्लोराइड होता है। यह रसायन हाथ की त्वचा पर स्थित कीटाणुओं को लगभग पूरी तरह खत्म कर देता है। किसी भी तरह के बैक्टीरिया और इंफेक्शन फैलानेवाले पैथोजेन्स त्वचा पर ऐक्टिव नहीं रह पाते हैं।

- हैंडसैनिटाइजर को तैयार करते समय इसमें ट्राइक्लोसोन का उपयोग भी किया जाता है। यह एक ऐसा रसायन है, जो त्वचा द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है। यानी हमारी त्वचा इस रसायन को सोख लेती है। इस कारण यह हमारे शरीर में प्रवेश कर जाता है। यदि एक सीमित मात्रा से अधिक कोई भी बाहरी रसायन शरीर में जाएगा तो उसके साइड इफेक्ट्स निश्चित तौर पर होते हैं।

Health tips,health tips in hindi,corona safety,coronavirus,hand sanitizer,hand sanitizer side effects ,हेल्थ टिप्स, हेल्थ टिप्स हिंदी में, कोरोना से सुरक्षा, कोरोनावायरस, हैंडसैनिटाइजर, हैंडसैनिटाइजर के नुकसान

- सैनिटाइजर्स को खुशबूदार बनाने के लिए इनमें जिन रसायनों का उपयोग किया जाता है, कई बार वे रसायन स्ट्रेस और एंग्जाइटी को ट्रिगर करनेवाले होते हैं। ऐसा आमतौर पर उन लोगों के साथ होता है जो बहुत अधिक संवेदनशील होते हैं।

- हैंडसैनिटाजइजर्स को अच्छी सुंगध देने के लिए जिन रसायनों का उपयोग किया जाता है, उनमें फैथलेट्स भी शामिल है। यह एक ऐसा रसायन है, जिसके अधिक उपयोग का लिवर और किडनी पर नकारात्मक असर देखने को मिलता है। इस कारण उन लोगों को अधिक दिक्कत होती है, जिन्हें पहले से ही पेट या पाचन से जुड़ी बीमारियां हों।

- हैंडसैनिटाइज का बहुत अधिक उपयोग बच्चों की सेहत के लिए भी ठीक नहीं है। ऊपर हमने जितनी भी बातें की हैं, इनमें से किसी भी तरह की समस्या होने पर आमतौर पर बच्चे माता-पिता को एक्सप्लेन नहीं कर पाते हैं कि उन्हें कैसा महसूस हो रहा है या क्या परेशानी हो रही है। वे सिर्फ चिड़चिड़े और बीमार हो जाते हैं। इसलिए बच्चों को भी साबुन से हाथ धुलवाना ही सही है।

ये भी पढ़े :

# आयुर्वेद के इन उपायों की मदद से कम करें अपना पेट, जानें और आजमाए

# बार-बार पाद आने की समस्या से छुटकारा दिलाएंगे ये देसी नुस्खें

# ब्लड कैंसर से होती हैं हर साल 75 लाख लोगों की मौत, शुरुआती लक्षण जान रहें सतर्क

# ये घरेलू उपाय बनेंगे थायरॅाइड की समस्या का इलाज, जानें और रहें स्वस्थ

# आपके लीवर को स्वस्थ बनाए रखेंगे ये सुपरफूड, करें अपने आहार में शामिल

Tags :

Advertisement

Home | About | Contact | Disclaimer| Privacy Policy

| | |

Copyright © 2020 lifeberrys.com